पोषक तत्वों की आवश्यकता

फसल की वृद्धि के लिए कौन से पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है?

उत्तर:-

पौधों के विकास के लिए पोषक तत्व बहुत जरूरी है। उचित मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिलने से पौधों की वृद्धि में रुकावट आती है। वैज्ञानिक आधार पर पौधों के लिए 17 पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

पौधों में आवश्यक पोषक तत्व:-

*मुख्य पोषक तत्व- नाइट्रोजन, फास्फोरस एवं पोटाश।
*गौण पोषक तत्व- कैल्सियम, मैग्नीशियम एवं गन्धक।
*सूक्ष्म पोषक तत्व- लोहा, जिंक, कापर, मैग्नीज, मालिब्डेनम, बोरान एवं क्लोरीन।

  1. प्राथमिक पोषक तत्व (Primary Nutrients)
    नाइट्रोजन (N), फॉस्फोरस (P), और पोटेशियम (K) हैं। इन आवश्यक तत्वों का अन्य दो श्रेणियों में आने वाले तत्वों की तुलना में पौधे द्वारा उच्च मात्रा में प्रयोग किया जाता है। इसके अतिरिक्त, ये तीनों तत्व प्लांट्स बायोलॉजी में महत्वपूर्ण कार्य करते है।

प्रोटीन के निर्माण के लिए नाइट्रोजन आवश्यक है, कार्बोहाइड्रेट का उत्पादन करता है, और पौधो की सेल विभाजन (विकास) के लिए आवश्यक है। फॉस्फोरस रूट वृद्धि, बीज गठन, और पौधों की परिपक्वता को प्रभावित करता है। अंत में, रोग प्रतिरोध, फल गठन, और प्रभाव संयंत्र एंजाइमों में पोटेशियम महत्वपूर्ण होता है।

2.माध्यमिक पोषक तत्व(Secondary Nutrients)
कैल्शियम (Ca), मैग्नीशियम (Mg), और सल्फर (S) हैं। ये तत्व, हालांकि ये उच्च मात्रा में आवश्यक नहीं होते है, लेकिन पौधे के स्वास्थ्य के लिए ये आवश्यक हैं। सल्फर विटामिन विकसित करने में मदद करता है, बीज उत्पादन में सहायक होता है, और एमिनो एसिड बनाने का एक अभिन्न अंग है।

मैग्नीशियम क्लोरोफिल उत्पादन में एक प्रमुख घटक है, और पौधों को फास्फोरस और लौह का उपयोग करने में मदद करता है। अन्य माध्यमिक पोषक तत्वों की तरह कैल्शियम, श्वसन और सेल विभाजन जैसे पौधों के सिस्टम कार्यों को विनियमित करने में कई भूमिका निभाता है। हालांकि, कुछ पौधों में कैल्शियम एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उदाहरण के लिए, मूंगफली में nut के विकास के लिए यह आवश्यक है।

3.सूक्ष्म पोषक तत्व (Micro Nutrients)
ये अन्य प्लांट न्यूट्रिएंट्स की तुलना में बहुत कम मात्रा में जरूरी होते है, लेकिन ग्रोथ और विकास के लिए आवश्यक हैं। प्लांट माइक्रोन्यूट्रिएंट्स बोरॉन(B), क्लोरीन (Cl), कॉपर (Cu), आयरन (fe), मैंगनीज (Mn), मोलिब्डेनम (Mo), और जिंक (Zn) हैं। ये सभी माइक्रोन्यूट्रिएंट्स प्लांट बायोलॉजी में कई अलग-अलग भूमिकाओं में सहायता करते हैं। उनमें से कई, कॉपर की तरह, फोटोसिंथेसिस और रिप्रोडक्शन में एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं।

Share this article:

Leave a Comment