भारत की स्वर कोकिला

स्वर कोकिला लता मंगेशकर

  • लता मंगेशकर भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका थी
    • लता जी ने अंतिम सांस 6 फरवरी 2022 को ली उनके निधन की खबर से पूरे देश में शोक की लहर दौड़ पड़ी है
  • लता का जन्म 28 सितंबर 1929 को मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में हुआ था
  • लता के लिए गाना पूजा के समान है रिकॉर्डिंग के समय वह हमेशा नंगे पैर ही गाती थी
  • लता को फोटोग्राफी का बहुत शौक है विदेशों में उनके द्वारा उतारे गए छाया चित्रों की प्रदर्शनी भी लग चुकी है
  • भारत के किसी बड़े क्रिकेट मैच के दिन सारे काम छोड़ मैच देखना पसंद करती थी
  • कागज पर कुछ भी लिखने के पूर्व वे श्रीकृष्ण लिखती थी
  • लता का पसंदीदा खाना कोल्हापुरी मटन और भुनी हुई मछली थी
  • चेखव, टॉलस्टॉय, खलील जिब्रान, ज्ञानेश्वरी और गीता का साहित्य उन्हें पसंद थी
  • कुंदनलाल सहगल और नूरजहां उनके पसंदीदा गायक गायिका थे
  • गुरुदत्त सत्यजीत रे यश चोपड़ा और बिमल राय की फिल्में उन्हें पसंद थी
  • त्योहारों में उन्हें दीपावली बेहद पसंद थी
  • भारतीय इतिहास और संस्कृति में उन्हें कृष्ण मीरा विवेकानंद और अरबिंदो बेहद पसंद थे
  • लता को मेकअप पसंद नहीं था
  • दूसरों पर तुरंत विश्वास कर लेना अपनी आदत को अपनी कमजोरी मानती थी
  • स्टेज पर गाते हुए उन्हें पहली बार ₹25 मिले और अभिनेत्री के रूप में उन्हें ₹300 पहली बार मिले थे
  • उस्ताद अमान खान भिंडी बाजार वाले और पंडित नरेंद्र शर्मा को व संगीत में अपना गुरु मानती थी और उनके आध्यात्मिक गुरु थे श्रीकृष्ण शर्मा
  • महाशिवरात्रि सावन सोमवार के अलावा गुरुवार को व्रत रखती थी
  • लता ने पहला गीत मराठी फिल्म कीती हंसाल (1942) में गाया लेकिन किसी कारणवश इस गीत को फिल्म में शामिल नहीं किया गया
  • मराठी फिल्म पाहिली मंगल्लागौर (1942) में उनकी आवाज पहली बार सुनाई दी
  • हिंदी फिल्मों में आपकी सेवा में (1947) में लता ने पहली बार गाया
  • लता ने अंग्रेजी, असमिया, बांग्ला, ब्रजभाषा, डोगरी, भोजपुरी, कोंकणी, कन्नड़, मागधी, मैथिली, मणिपुरी, मलयालम, हिंदी, सिंधी, तमिल, तेलुगू, उर्दू, मराठी, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, सिंहली आदि भाषाओं में गीत गाए है
  • लता मराठी भाषी है परंतु वे हिंदी, बांग्ला, तमिल, संस्कृत, गुजराती और पंजाबी भाषा में बतिया लेती है
  • लता ‘लेकिन’ ‘बादल’ और ‘कांचनगंगा’ जैसी फिल्मों की निर्माता भी रह चुकी है
  • आजा रे परदेसी (मधुमती-1958), कहीं दीप जले कहीं दिल (बीस साल बाद-1962), तुम्हीं मेरे मंदिर (खानदान-1965), और आप मुझे अच्छे लगने लगे (जीने की राह-1969) के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार जीतने के बाद लता ने इस पुरस्कार को स्वीकार करना बंद कर दिया वह चाहती थी कि नई गायक गायिकाओं को यह पुरस्कार मिले
  • परिचय (1972), कोरा कागज (1974), और लेकिन (1990) के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं
  • 1951 में लताजी ने सर्वाधिक 225 गीत गाए थे
  • प्रमुख पुरस्कार

पद्मभूषण, 1969
दादासाहब फाल्के, 1989
राजीव गांधी पुरस्कार, 1997
पद्मा विभूषण, 1999
भारत रत्न, 2001
और बहुत से अन्य पुरस्कार भी मिले

  • बचपन में लता को रेडियो सुनने का बड़ा शौक था। जब वह 18 वर्ष की थी तब उन्होने अपना पहला रेडियो खरीदा और जैसे ही रेडियो ऑन किया तो के.एल.सहगल की मृत्यु का समाचार उन्हें प्राप्त हुआ। बाद में उन्होंने वह रेडियो दुकानदार को वापस लौटा दिया
  • लता को अपने बचपन के दिनों में साइकिल चलाने का काफी शौक था, जो पूरा नहीं हो सका। अलबत्ता उन्होंने अपनी पहली कार 8000 रुपये में खरीदी थी
  • लता को मसालेदार भोजन करने का शौक है और एक दिन में वह तकरीबन 12 मिर्च खा जाती हैं उनका मानना है कि मिर्च खाने से गले की मिठास बढ़ जाती है
  • लता जब हेमंत कुमार के साथ गाने गाती थीं तो इसके लिए उन्हें ‘स्टूल’ का सहारा लेना पड़ता था इसकी वजह यह थी कि हेमंत कुमार उनसे काफी लंबे थे
  • लता फिल्म इंडस्ट्री में मृदु स्वभाव के कारण जानी जाती हैं, लेकिन दिलचस्प बात है कि किशोर कुमार और मोहम्मद रफी जैसे गायकों के साथ भी उनकी अनबन हो गई थी
  • लता महज एक दिन के लिए स्कूल गई। इसकी वजह यह रही कि जब वह पहले दिन अपनी छोटी बहन आशा भोसले को स्कूल लेकर गई तो अध्यापक ने आशा भोसले को यह कहकर स्कूल से निकाल दिया कि उन्हें भी स्कूल की फीस देनी होगी। बाद में लता ने निश्चय किया कि वह कभी स्कूल नहीं जाएंगी हालांकि बाद में उन्हें न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी सहित छह विश्वविद्यालयों ने मानक उपाधि से नवाजा
  • उन्हें भारत रत्न और दादा साहब फाल्के पुरस्कार प्राप्त हुआ उनके अलावा सत्यजीत रे को ही यह गौरव प्राप्त है
  • वर्ष 1974 में लंदन के सुप्रसिद्ध रॉयल अल्बर्ट हॉल में उन्हें पहली भारतीय गायिका के रूप में गाने का अवसर प्राप्त है
  • लता की सबसे पसंदीदा फिल्म द किंग एंड आई है। हिंदी फिल्मों में उन्हें त्रिशूल, शोले, सीता और गीता, दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे और मधुमती पसंद हैं
  • वर्ष 1943 में रिलीज किस्मत उन्हें इतनी पसंद आई कि उन्होंने इसे लगभग 50 बार देखा था
  • उन्हें डायमंड रिंग पहनने का शौक है उन्होंने अपनी पहली डायमंड रिंग वर्ष 1947 में 700 रुपये में खरीदी थी
  • लता अपने करियर के शुरुआती दौर में डायरी लिखने का शौक रखती थी जिसमें वह गाने और कहानी लिखा करती थी बाद में उन्होंने उस डायरी को अनुपयोगी समझ कर उसे नष्ट कर दिया
  • उनके पिताजी द्वारा दिया गया तम्बूरा उन्होंने अब तक संभालकर रखा है
  • हिट गीत ‘आएगा आने वाला’ के लिए उन्हें 22 रीटेक देने पड़े थे
  • लता ने पहली बार पार्श्व गायन नायिका मुनव्वर सुल्ताना के लिए किया था
  • बतौर अभिनेत्री लता ने कई हिन्दी व मराठी फिल्मों में काम मिया है हिन्दी में वे बड़ी माँ, जीवन यात्रा, सुभद्रा, छत्रपति शिवाजी जैसी फिल्मों में आ चुकी हैं
  • पुरुष गायकों में मोहम्द रफी के साथ लता ने सर्वाधिक 440 युगल गीत गाए। जबकि 327 किशोर के साथ। महिला युगल गीत उन्होंने सबसे ज्यादा आशा भोंसले के साथ गाए हैं
  • गीतकारों में आनंद बक्शी द्वारा लिखें 700 से अधिक गीत लता ने गाए
Share this article:

Leave a Comment